आई लव यू …..भगवान

आई लव यू …..भगवान

कितनी बार मेरी आँखों  के आगे अँधेरा छाया ।
लगा कि अब कुछ नहीं बचा है जीने को ।
तभी चला आता है कोई चमकती आँखों में प्यार की रोशनी लेकर ।
कभी माँ ,कभी कोई बच्चा तो कभी कोई दोस्त ।

कितन सुकून मिलता है ?मन की सारी कालिख धुल जाती है ।
फिर से जीने की इच्छा होती है भरपूर जीने की ।
ओह !भगवान् !क्या ये तू है ?
तू ही है न ,जो हर बार रूप बदलकर आता है ।
हर बार एक नै आवाज़ में कुछ कहकर फिर भरोसा जगा देता है ।
मैं तेरी पूजा नहीं करता ।
सब मंदिर में जाते है ,तेरे आगे झुकते है,तेरा आदर करते हैं ।
लेकिन मै …………मैं प्यार करता हूँ तुझसे ।

 
और जबकि मैंने जाना है कि किसी इंसान की शक्ल में मेरे पास पहुंचता है
तो मैं प्यार करता हूँ इंसानों से ।
गहरा प्यार …….इतना कि खुद को भूल सकूँ ।
मैं जानता हूँ ना ,
मेरा प्यार तुझ तक पहुँच रहा है ।

पंकज जैन “सुकून”
“दिल तो दिल है “पुस्तक से साभार 
@सर्वाधिकार सुरक्षित 
बुक ,डी वी डी  या गीत खरीदने हेतु 
कॉल करें 
9754381469
9406826679

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *